हर दिन एक नई शुरुआत Kaise Kare?

ऐसा कहा जाता है कि हर दिन एक नई शुरुआत होती है और हर सुबह सूर्य की नई किरण आशा की किरण लेकर आती है और हर नई सुबह ख़ुशियों से भर देती हैं। यदि, आप परेशान रहते है और अपनी ज़िंदगी में मेहनत कर के सफलता हासिल करना चाहते है तो यह लेख आपके लिए है। किन्तु, आप आलास को दूर किए बगैर ही सफलता चाहते है तो आप गलत जगह है।

कुछ भी संभव है, अगर इरादा मजबूत हो तो – 

आज कल के कुछ नव जवान बहुत जल्दी ही गुस्सा कर लेते हैं और ऐसा कर देते हैं जो उन्हें नहीं करना चाहिए। जैसे आत्महत्या कर देते हैं जो उन्हें नहीं करना चाहिए और खुद तो परेशान होते है और  parents को परेशान करते हैं।

ऐसा नहीं है कि कुछ नहीं कर सकते हैं अगर मन में हिम्मत है ज़ज़्बा है तो 100% आप सफलता हासिल कर सकते हों। फिर चाहे कोई साथ नहीं दे पर ईमानदार व्यक्ति के साथ भगवान हमेशा साथ देता है। 

  • जो बीत गया उसे तो बदला नहीं जा सकता, लेकिन जो आने वाला है वो अपने हाथ में है। 
  • जिंदगी बहुत ख़ूबसूरत है इसे बेकार की बातों में व्यतीत ना करें। 
  • जो लोग कामयाब हैं वो अपने फैसले से दुनिया बदल देते हैं और वो अपने जीवन में कुछ चमत्कार कर देते हैं।

ज़िंदगी का कोई पन्ना दोबारा नहीं आएगा। 

साल का दूसरा महीना फरवरी होता है। यह महीने में सबसे कम दीन होते हैं। फ़रवरी में कई बार 28 दिन होते हैं और कई बार 29 दिन होते हैं। 2021 के फरवरी महीने में 28 दीन है पर इसका यह मतलब नहीं कि एक दिन कम होने से आपकी ज़िंदगी बदल जाएगी। 

“Try, try but never cry”

ज़रूरी नहीं हमेशा 1 जनवरी को ही हो पहला साल हो! या फिर कई लोग अचानक यह भी सोचते है कि यह साल leap year हैं 4 साल में एक बार आया यह साल मेरी ज़िंदगी का सर्वश्रेष्ठ साल होगा। इस साल में यह करुंगा, वह करुंगा पर वह साल भी हर साल की तरह ही बीत जाता है। इसलिए कहा गया है कि “कल करें सो आज कर आज करे सो अभी”!

नई शुरुआत करने की सलाह हम आसानी से दुसरो को कह देते हैं और लेकिन हमारे लिए भी आसान नहीं होता है। किन्तु, कहते है ना कि मेहनत करेंगे तो सफलता मिलती ही है। इसलिए हर पल नया है वक़्त अगर चला गया तो कभी आएगा नहीं तो घबंराए नहीं जिधर है वहीं से एक नई शुरुआत कीजिए।

यूनिटी इं डायवर्सिटी! 

भारत में अलग अलग धर्म के लोग अलग अलग त्योहार मानते है। जैसे पंजाबी का नया साल बैसाखी को मनाया जाता है, सिंधी का नया साल चेटीचंड को मनाया जाता है आदि हर तरह के धर्म के लोगों का नया साल तिथि के हिसाब से अलग अलग होता है। यदि, आप सही में कुछ करना चाहते हो तो आपको बस उस समय अपना इरादा पक्का करना है। यदि, आप भी उनमें से हैं जिन्हें हर नए साल लेने कि आदत है तो आप विश्व के किसी भी धर्म के नए साल पर अपना इरादा मजबूत कर के नए goals set कर सकते है।

स्कूल या कॉलेज का पहला दिन 

स्कूल के पहले दिन उसके लिए सब कुछ नया होता है।जैसे नए टीचर, नए दोस्त, नई स्कूल में सब कुछ उसके लिए नया होता है और कुछ बच्चे रोते हैं क्योंकि उनके लिए यह सब नया होता है और बच्चे डर जाते हैं नया लोगों को देखते ही। किन्तु, वक्त रहते संभाल भी जाते है वैसे ही आपको डर से डरने कि जरूरत नहीं है बस अपने अंदर का बच्चा ज़िंदा रखें और जो मन में। आए वह करें किन्तु, सोच समझ कर।

  • किताबें पढ़ें 

जितना हमें खाली समय मिलें उतनी देर किताबें पढ़े और उससे जानकारी हासिल करें और कुछ नया सीखें जिससे उन्हें खुशी मिलें। किताबें पढ़ने के लिए थोड़ा समय निकालें। 

  • टाइम वेस्ट ना करें 

लोगों को दोस्तों के साथ गपशप करने में बड़ा मज़ा आता है। हां कुछ देर सही हैं पर हर समय  यह करना मतलब टाइम बर्बाद करना। समय से ज़्यादा महंगी चीज इस दुनिया में कुछ नहीं है। 

  • व्यायाम करना चाहिए

रोज एक घंटा व्यायाम करें, प्राणायाम करना चाहिए और सुबह बाहर टहलने जाना जाए। जिससे आपकी सुबह की शुरुआत अच्छी हो। 

वक़्त निकाले

अपने लिए और अपने परिवार के लिए थोड़ा वक़्त निकाल ना चाहिए जिससे उनको भी खुशी मिलें और आपका भी मन लगा रहें।

अपने प्यार को ऐसा तो क्या करें गिफ्ट जो उसे ज़िन्दगी भर याद रहें? दें अपने प्यार को उनके जन्मदिन पर कोई अमूल्य तोहफा!

जन्मदिन के दिन एक प्यारा सा तोहफा या फिर एक बर्थडे कार्ड भी यदि, प्यार से दिया हो तो वह बहुत ही मूल्यवान हो जाता है। 

एक ख़ास बात – यदि, आप किसी को तोहफा दे रहे हो तो दिल से दें, उसकी मूल्य यदि 50 भी होगी तो भी वह 500 के बराबर होगी यदि वह गिफ्ट प्यार से दी गई हो।

हर बार की तरह इस बार भी हम आपके लिए एक मजेदार और दुनिया के सबसे अधिक एवं महत्वपूर्ण सवाल के जवाब लाए हैं। 

आखिर अपने प्यार को बर्थडे पर क्या दें?

सबसे पहले हो सके तो आप कोशिश करें कि आप उन्हें सबसे पहले जन्मदिन की बधाई दें। आप उस दिन कुछ दें चाहे ना दें परन्तु, एक महत्वपूर्ण चीज अवश्य दें। कोशिश करें कि उन्हें अभी जिस चीज़ की ज़रूरत है वो दें।

अपने प्यार का करें इज़हार

उस दिन आप उनसे प्यार करते है वह बताएं। उन्हें स्पेशल फील कराएं। उन्हें बताएं की वह आपकी ज़िन्दगी में कितने महत्वपूर्ण है। अपने प्यार को अपने दिल की बात कहें या मैसेज करें। शायद इससे बड़ा तोहफा उनकी ज़िन्दगी में और कुछ नहीं होगा जिन्हे आप प्यार करते है, उन्हें अपने दिल की बात कही जाए।

वॉच करें गिफ्ट

आप यदि, उन्हें तोहफे में घड़ी देंगे तो वह जब भी घड़ी देखेंगे या कितना समय हुआ है यह सोचने की कोशिश भी करेंगे तब उन्हें आप की याद दिलाएगी घड़ी। 

गुलदस्ता और ग्रीटिंग कार्ड

एक प्यारा सा खुश्बुदार गुलदस्ता जिसके ऊपर हो आपके नाम का कार्ड। आप अपने लवर्स के मनपसंद फूलों का  सुगंधित गुलदस्ता उन्हें दें। यदि, आपको नहीं पता उनका मनपसंद फूल कौन सा है तो आप गुलाब और कुछ दूसरे फूलों का गुलदस्ता दें एक साथ। 

ग्रीटिंग कार्ड – ज़रूरी नहीं कि वह बड़ा हो या छोटा हो, किन्तु इसमें जो लिखा हुआ है वह मूल्यवान होना चाहिए।

कैंडल लाइट डिनर या कहीं बाहर जाएं घूमने

घूमना तो सबको पसंद होता है। तो अपने प्यार के साथ कई घूमने जाए या फिर एक दिन के लिए डेट करें प्लान। कुछ घंटे भी आप अपने प्यार के जन्मदिन पर बिताएंगे तो उनके लिए उनका बर्थडे और भी स्पेशल हो जाएगा।

कपड़े या फोटो फ्रेम करें गिफ्ट

अपने स्पेशल वन के बर्थडे पर उन्हें कपड़े या एक खूबसूरत फोटो फ्रेम तोहफे में दें। आपकी और उनकी खूबसूरत यादें ताज़ा हो जाएगी जब भी वह व्यक्ति उस फोटो फ्रेम को देखेगा। 

प्रेमिका या पत्नी को दें झुमके 

लड़कियों का कानों के झुमकों से एक अलग ही रिश्ता होता है। यदि आपके प्यार को झुमके पहनना पसंद है तो आप उन्हें अवश्य झुमके दें।

पैरों की पायल 

यदि, आपकी प्रेमिका या पत्नी पैरों में पायल पहनती है या उन्हें पहनना पसंद है तो आप अवश्य उन्हें पायल ही दें।

पैरों के पायल की छन छन आपके प्यार को दिलाएगी आपकी याद।

अंगूठी या गले में पहनने  के लिए हार!

हाथ की अंगूठी दे अपने प्यार को तोहफा। इससे आप उन्हें एक बार फिर से प्रपोज भी कर लेंगे और एक तोहफा भी हो जाएगा।

कई और तोहफे है ऐसे जो आपके प्यार को कर देंगे खुश!

  • ब्रेसलेट बनाएगा आपके प्यार के दिन को और भी खास।
  • अत्तर की महक दिलाएगी आपके प्यार को अपना अहसास।
  • चॉकलेट या कोई सॉफ्ट टॉय।
  • मनपसंद केक या फिर उनके लिए पार्टी रखी जाए।

आपको कुछ भी तोहफा दें, किन्तु वह प्यार से दिया होना चाहिए।

पीएम किसान मोबाइल ऐप के फायदे जानने के साथ जानें क्या-क्या सुविधाएं है इस ऐप में!

देश में किसान की अहमियत क्या है, यह तो सब जानते ही है। देश के प्रधानमंत्री ने हमारे देश के किसानों के लिए एक स्कीम की है लॉन्च। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको कोई दूसरी जगह जाने की जरूरत नहीं है। आपको बस घर बैठे ही स्मार्ट फोन में यह ऐप डाउनलोड करना है। इस योजना के तहत भारत का कोई भी किसान प्रति वर्ष घर बैठे ही 6000 रुपए पा सकता है। 2000 के तीन किश्तों में दिए जाएंगे यह रुपए!

  • देश के किसानों के खातों में अब तक 93,000 करोड़ रुपए हो चुके है ट्रांसफर।
  • PM-KISAN के तहत सभी पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं।
  • यह भी बताया जा रहा है कि अब तक किसी सरकार ने इतनी बड़ी रकम किसानों के हाथ में नहीं दी है। 

जानें इस ऐप के लाभ एवं इस पर रजिस्ट्रेशन किस प्रकार किया जाए!

जब 2018 में इनफॉर्मली शुरुआत की गई थी तब रूल था कि जिसके पास कृषि योग्य खेती 2 हेक्टेयर (5 एकड़) है उसी को लाभ मिलेगा। किन्तु, अब यह रूल बदल चुका है और इसका लाभ अधिक से अधिक लोग लें सके इसलिए सेल्फ रजिस्ट्रेशन का तरीका निकाला। क्योंकि, पहले लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारी के जरिए रजिस्ट्रेशन करवाना होता था।

रजिस्ट्रेशन करने के लिए –

  • आपके पास स्मार्ट फोन होना चाहिए, आधार कार्ड, बैंक में एकाउंट। 
  • आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना ऐप के जरिए भी अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है।
  • इस जानकारी के तहत आप pmkisan.nic.in  लिंक को खोलें और अपना रजिस्ट्रेशन करवाए।
  • यदि, कुछ दुविधा हो तो हेल्पलाइन नंबर डायल करें।

मच्छर काटने से पड़ने वाले लाल रंग के चकत्तों और खुजली को दूर करेंगे ये 5 घरेलू उपाय!

दिन प्रतिदिन बीमारियाँ बढ़ रही है। जिसके चलते लोगों को सावधानी अधिक बरतनी पढ़ रही है। हर बदला मौसम उमंग नए फल-फूल और बदलाव लाता है! किन्तु, क्या आप जानते है, मौसम के बदलने से बीमारियाँ तो आती है किन्तु, उस बीमारी की फैलाने का काम मच्छर भी करते है। 

चाहे मच्छरों को भगाने के लिए कितनी ही दवाओं का इस्तेमाल किया जाए किन्तु, वह कई ना कई से पहुंच ही जाते है। मच्छर ना केवल सिर्फ एक का वायरस दूसरे में फैलाता है बल्कि, मच्छर के काटने से भी कई बीमारियाँ एवं एलर्जी होती है जो उनके अंदर पहले से होती है। 

मच्छर ना केवल नींद खराब करके पीड़ा देते है किन्तु, उसके काटने से जो लाल धब्बे होते है उससे हमारी स्किन पर भी असर होता है। 

यदि, कभी कोई त्योहार या खास अवसर में ऐसा हो तो क्या किया जाए?

आइए जानते है, ज़िद्दी मच्छरों के लाल दाग से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय!

ठंडा बर्फ देगा मच्छरों से हुए दर्द को मार!

बर्फ – यह जानकर हैरानी होगी? किन्तु, यह सत्य है कि ठंडा बर्फ मच्छर से हुई पीड़ा में आपको आराम देगा और शरीर में वायरस भी नहीं फैलेगा। बर्फ को संक्रमित जगह पर लगाने से दर्द में राहत मिलेगी और सूजन भी कम होने लगेगी!

नमक का पेस्ट!

नमक सब्जी में डालें तो स्वाद बढ़ता है और मच्छर के काटने कि जगह पर लगाएँ तो? घबराए नहीं सूजन को बढ़ाता नहीं कम करता है। नमक में पाए गए एँटीसेप्टिक गुण सूजन को कम करने में मदद करता है। नमक में पानी की कुछ बूंद डालें और पेस्ट बनाकर संक्रमित जगह पर लगाएँ!

शहद करेगा दर्द का The End!

शहद एक प्रिय और अधिक लाभकारी औषधि है! यह एँटीबैक्टीरियल और एँटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर है। इसके इस्तेमाल से आपको काफी राहत मिलेगी। इसे लगाने से आपकी सूजन, खुजली और दर्द दोनों ही कम होगा। 

लहसुन है उपाय!

लहसुन के इस्तेमाल से मच्छर के काटे हुए दर्द को ठीक करने की भी क्षमता होती है। हालांकि, एक बात पर गौर करना अधिक आवश्यक है कि लहसुन को सीधे त्वचा पर लगाने से जलन अधिक होती है इसलिए लहसुन को कुचल लें और इसे लोशन या नारियल का तेल मिला कर लगाएँ!

तुलसी से होगा फुल्सी का अंत!

अधिकाँश इटालियन खाद्य पदार्थों में इस औषधि का प्रयोग किया जाता है और भारत में तो युगों से इसका इस्तेमाल हो ही रहा है। तुलसी में यूगेनोल नामक यौगिक होता है जो आपकी त्वचा में खुजली से राहत देता है।

Kya दाएं पैर के अंगूठे के नाखून पर हल्दी का लेप कोरोना का संक्रमण समाप्त हो जाएगा ?

कोरोना में अफवाओं का बाजार गरम है कृपया ऐसे कोई अफवा न फैलाये न फैलने दे , आस्था के साथ खिलवाड़ किआ जा रहा है,

अभी एक मैसेज Whatsapp पे वायरल हो रहा है और लोग बिना सोचे समझे इसे मान रहे है और अपने मित्रो को Forward कर रहे है

अभी अभी जानकारी मिली है कि ग्राम नागेलाव वाया पीसांगन जिला अजमेर में एक बालिका का जन्म हॉस्पिटल में हुआ l बालिका ने जन्म लेते ही बोली कि भारत में जो कोरोना वायरस संक्रमण फैला हुआ है उसके बचाव के लिए भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने दाएं पैर के अंगूठे के नाखून पर हल्दी का लेप (मेहंदी की तरह) लगाना है l इससे कोरोना का संक्रमण समाप्त हो जाएगा सभी नागरिक सकुशल रहेंगे l यह कहकर बालिका की उसी समय मृत्यु हो गई यह देखकर अस्पताल के डॉक्टर भी आश्चर्यचकित हो गए l अतः आपसे निवेदन है कि आप भी तत्काल इस तरह का लेप अपने दाएं पैर के अंगूठे के नाखून पर लगाकर कोरोना वायरस संक्रमण से अपना एवंअपने परिवार का जीवन को बचाएं l यह फेक न्यूज़ नहीं है सत्य घटना है

भगवान को कोई सन्देश देना हो तो कभी इस तरह से सन्देश नहीं देंगे और देंगे भी तो वो न्यूज़ को डॉक्टर अपने न्यूज़ चैनल पे आके बतायंगे ,Whatsapp पे आधी से जड़ी इस तरह की जानकारी Fake होती है.